पिंपल हटाने के 20 घरेलू उपाय- How To Remove Pimples। ट्रीटमेंट, बचाव, डाइट
Beauty Tips

मुंहासे (पिंपल) हटाने के 20 घरेलू उपाय- How To Remove Pimples। ट्रीटमेंट, बचाव, डाइट

MAIN POINTS OF ARTICLE

चेहरा हमेशा दमकता रहे यह तो हम सभी चाहते हैं। लेकिन फेस पर अक्सर कई तरह की समस्याएं पैदा हो जाती है। इन समस्याओं में से एक है पिंपल की। Pimples या मुहांसे यह ना केवल चेहरे पर दाग छोड़ जाते हैं, बल्कि इनके होने पर कई बार तो बहुत ही दर्द होता है। यह समस्या दुनिया के हर युवा के साथ है। पिंपल आमतौर पर 20 साल से लेकर 40 साल तक के लोगों को हो जाता है। ऐसे में लोग अक्सर कई सवाल करते हैं मुंहासे (Pimles) हटाने के घरेलु उपाय (How To Remove Pimples), पिंपल हटाने के तरीके (Remedy For Pimples)। इसके अलावा कई बार जब पिंपल दाग छोड़ जाते हैं तो लोग यह भी सवाल पूछते दिखाई देते हैं कि पिंपल के दाग कैसे हटाएँ ( Acne and Pimple Treatment) अब अगर आप भी पिंपल या मुहांसो से परेशान हैं तो आज आपकी परेशानी हम दूर कर देंगे।

आज आपको पिंपल से जुड़ी तमाम जानकारियाँ देंगे, जिसके जरिए आप अपना ख्याल पूरी तरह रख सकें। इसके अलावा यह समस्या आखिर होती क्यों हैं हम इस पर भी ध्यान देंगे। तो चलिए जानते हैं आज Pimple यानी मुहांसों के बारे में।

पिंपल होने का कारण – Pimple Causesपिंपल होने का कारण - Pimple Causes

पिंपल या मुहांसे कई कारणों की वजह से हो सकते हैं। खाने पीने की आदत से लेकर उम्र भी मुहांसो के लिए जिम्मेदा हो सकती है, तो चलिए जानते हैं क्यों होते हैं पिंपल और कितने प्रकार के होते हैं।

अनुवांशिकता – Genetics

मुंहासों की समस्या के कई कारण हैं जिनमें से एक है अनुवांशिकता (Genetics) यानी अगर आपके घर परिवार में बार बार किसी को मुंहासों की समस्या होती है, तो यह परिवार के अन्य व्यक्तियों को भी हो सकते हैं। इसलिए अगर आपके परिवार में किसी को इस तरह की समस्या है तो आपको अपने ऊपर थोड़ा अधिक ध्यान देना होगा।

दवाएं भी हो सकती है कारण

यह हम सभी जानते हैं कि दवाओं की तासीर बेहद गरम होती है। कई बीमारियों की दवाई भी मुंहासों का कारण बन सकती हैं। अगर आप मिर्गी, तनाव या किसी तरह की मानसिक बीमारी की दवाईयों का सेवन कर रहे हैं तो आपको मुंहासे हो सकते हैं।

खानपीने की आदत

ऐसी कई रिसर्च हुई हैं जिनमें बताया गया है कि भोजन में ट्रांस फैट, दूध या मछली का सेवन करने से भी पिंपल होने की वजह हो सकती है। जर्नल ऑफ दे एकेडमी ऑफ न्यूट्रिशन एंड डायटेटिक्स ने भी इस बात के कई प्रमाण दिए हैं। यानी अगर आपको मुंहासों की समस्या से बचना है तो खान पान पर भी थोड़ा ध्यान देना होगा तभी आप पर पिंपल हटाने के उपाय काम करेंगे।

यह भी पढ़ें- रातों रात गोरा होने के उपाय

हार्मोनल बदलाव

उम्र के साथ साथ शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव देखने को मिलते हैं। यह बदलाव भी अधिक मुंहासों का कारण हो सकते हैं। महिलओं में पीरियड्स के समय या गर्भावस्था के दौरन भी पिंपल हो जाते हैं।

तनाव

तनाव एक ऐसी समस्या है जो आपके शरीर में कई तरह की भयंकर बीमारियों को भी जन्म दे देती है। इसी तरह तनाव के कारण पिंपल भी हो सकते हैं। अगर आप स्ट्रेस में रहते हैं, तो आपको यह समस्या हो सकती है।

कॉस्मेटिक प्रोडक्ट

आज के दौर में लोग कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का अधिक इस्तेमाल करते हैं, जिसकी वजह से ना केवल पिंपल की समस्या पैदा होती है, बल्कि कई तरह की अन्य स्किन से संबंधित समस्या भी होने लगती है। अगर आप भी कॉस्मेंटिक प्रोडक्ट का इस्तेमाल अधिक करते हैं तो इसे आज ही कम करे।

मुंहासो के प्रकार – Types of Pimplesमुंहासो के प्रकार - Types of Pimples

अभी तक आपने जाना के पिंपल किन कारणों से होते हैं। अब बात करते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं। आम लोग इन्हे केवल एक ही नाम से जानते हैं, जिसकी वजह से सभी मुंहासों का इलाज एक ही तरह करते हैं। जबकि हर मुंहासों का इलाज अलग तरीके से होता है। तो चलिए जानते हैं Pimples के प्रकार

पेपुलर- पुस्टुल्स (Papular – Pustulses)

इन पिंपल का रंग हल्का लाल और गहरा गुलाबी होता है। ये रेजर के कट जाने, रेजर बर्न, किसी कीड़े के काटने या स्किन में पैदा हुई किसी समस्या के कारण हो सकते हैं। यह बहुत ही सेंसटिव होते हैं, और इन पर हाथ या कुछ भी लगने से भयंकर दर्द होता है।

नोड्यूल्स

यह पिंपल थोड़े अलग प्रकार के होते हैं. यह हमारी स्किन के ऊपर की तरफ पैदा होते हैं। यह बाकी पिंपल के मुकाबले साइज में भी कुछ बड़े होते हैं। यह काफी कठोर भी होते हैं, जरा सा छू लेने के मात्र से ही यह आपको भयंकर पीड़ा का एहसास करा सकते हैं।

दाना या फुंसी पिंपल

चेहरे पर दाने या फुंसी होने का अनुभव तो शायद आपने भी किया होगा। यह लाल रंग के होते है और इनका साइज छोटा और बड़ा दोनो हो सकते हैं। जब यह होना शुरू होते हैं तो ठोस होते हैं लेकिन कुछ समय बाद इनमे पस भरने लगता है जिसकी वजह यह थोड़े सॉफ्ट हो जाते हैं। यह बहुत पीड़ा देने वाले भी हो सकते हैं।

ब्लैकहैड्स

चेहरे पर हुए ब्लैक हैड्स तो आपने भी देखे होंगे। लेकिन शायद ही आप जानते होंगे कि यह भी पिंपल की श्रेणी में ही आते हैं। यह स्किन के पोर्स में होते हैं। ये स्किन में ब्लैकनैस बढ़ाने का काम करते हैं और स्मूदनेस की भी कम करते हैं। यह स्किन में मेलनिन के ऑक्सीकरण की वजह से होते हैं, जबिक लोगों को यह लगता है कि यह गंदगी की वजह पैदा हुए हैं।

पुटी, सिस्ट या गांठ

मुंहासों में सिस्ट या गांठ भी होती है। इसमें सूजन भी पैदा हो सकती है और घाव भी। इस तरह के पिंपल का इलाज खुद करना नुकसानदायक हो सकता है। इन पिंपल्स के लिए डॉक्टर की सालह लेनी जरूरी होती है। इनमें भयंकर दर्द रहता है और पस भी भर जाता है।

चलिए अब जानते हैं पिंपल के घरेलु उपाय के बारे में

मुंहासे (पिंपल) हटाने के लिए घरेलु उपाय – How To Remove Pimples in Hindi
मुंहासों के लिए घरेलु उपाय - Home Remedies For Pimples in Hindi

दोस्तों अब तक आपने जाना कि पिंपल कितने प्रकार के होते हैं और इनके होने का क्या कारण है। अब हम जानते हैं कि अगर आप पिंपल्स की समस्या से घिर जाएं तो घर पर बैठ कर भी पिंपल का इलाज किस तरह कर सकते हैं। चलिए जानते हैं पिंपल के घरेलु उपाय के बारे में।

नींबू से करें पिंपल ठीक

नींबू हम सभी के घर में आसानी से मिल जाता है। नींबू के अंदर विटामिन सी से भरपूर होता है। इसके अलााव नींबू के अदर सिट्रिक एसिड भी पाया जाता है, जो जलन और दाग मिटाने में कारगर होता है। इसके अलावा चेहरे पर पड़ने वाली झूर्रियां को दूर करने का कामी भी नींबू आसानी से कर लेता है। इसमें ऐसे तत्व भी पाए जाते हैं जो मेलनिन के उत्पादन को रोककर त्वचा की रंगत निखारने में भी मदद करता है। सबसे जरूरी इसमें पिंपल की समस्या को खत्म करने के गुण भी होते हैं।

नींबू का मुंहासो के लिए इस्तेमाल

  • सबसे पहले एक नींबू का रस निकालें।
  • अब इसमें कुछ पानी डाले और दोनो को अच्छे से मिला लें।
  • अब रूई के माध्यम से पिंपल के ऊपर इसे हल्के हल्के हाथ से लगाएं।
  • लगाने के आधे घंटे तक इसे ऐसे ही छोड़ दे। इसके बाद आप इसे धो सकते हैं।

मुल्तानी मिट्टी

मुल्तानी मिट्टी का उपायोग हमारे देश और समाज में सदियों से होता आ रहा है। पिंपल के होने के मुख्य कारणो में से एक ऑयली स्किन भी है, और ऐसी ही स्किन से तैलीय पदार्थ निकालने का काम करती है मुल्तानी मिट्टी। इसमे ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो चेहरे की गंदगी को पूरी तरह साफ कर देती है। यही नहीं मुल्तानी मिट्टी के जरिए कील मुंहासो के दाग भी हटाए जा सकते हैं। इसके अलावा मुल्तानी मिट्टी के अंदर एंटी माइक्रोबियल गुण भी होते हैं, जो एक्ने बैक्टीरिया को खत्म करने और उन्हे पनपने से रोकने में भी कारगर सिद्द होती है।

मुल्तानी मिट्टी से कैसे हटाएं मुंहासे

  • इसके लिए सबसे पहले आप तीन चम्मच मुल्तानी मिट्टी ले, इसमें कुछ बुंद गुलाब जल की और एक चम्मच शहद की मिला ले।
  • अब अपने चेहरे पर अच्छी तरह इस पेस्ट को लगा लें।
  • जब यह पेस्ट फेस पर पूरी तरह सूख जाए तो आप इसे धो सकते हैं।

नीम

नीम की दातुन तो आपने की होगी। इसके अलावा आपने नीम फेस वाश का इस्तेमाल भी काफी बार किया होगा। नीम की पत्तियों में एंटीइफ्लामेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। NCBI की वेबसाइट पर भी एक जानकारी साझा की गई है जिसमे बताया गया है कि नीम के इथेनॉल अर्क से एंटी-एक्ने पैक तैयार किया जा सकता है। इस पैक कें अंदर ग्रीन टी और तुलसी के पत्तों का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।
एनसीबीआई द्वारा प्रकाशित इस लेख में साफ साफ बताया गया है कि नीम के जरिए तैयार किए गए इस पैक में ऐसे सभी जूरी तत्व मौजूद होते हैं जो चेहरे पर होने वाले पिंपल्स को खत्म कर सकते हैं।

नीम के पैक से दूर करें पिंपल

  • सबसे पहले आप नीम के कुछ पत्ते ले और इन्हे पींस ले। इसके बाद आप इनमें ग्रीन टी और तुलसी के पत्तों को पीस कर मिला ले।
  • अब इससे तैयार किए गए पेस्ट को चेहरे पर लगाएं।
  • इसे सूखने के बाद ठंडे पानी से चेहरा धो ले। यह तरीका आपके पिंपल को खत्म कर देगा।
  • इसके अलावा आप नीम के पत्तों को पानी में उबालकर रखें और ठंडा होने पर इससे अपने चेहरे को नियमित रूप से धोएं।
  • नीम की कुछ पत्तियों को पीस कर भी चेहरे पर लगाया जा सकता है।

विच हेजल से मुंहासों से दिलाएगा छुटकारा

विच हेडस मुंहासों के लिए एक बेहतरीन उपाय है। इसके अंदर ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो फेस पर जमे तैलीय पदार्थ को कम करने का काम करता है। जैसे की आप जानते हों की पिंपल होने का एक कारण फेस पर जमने वाला तैलीय पदार्थ भी है और इसी तैलीय पदार्थ विज हेजल खत्म कर देता है, जिससे मुंहासे पूरी तरह खत्म होने शुरू हो जाते हैं। इसके अलावा इसमें एंटी इन्फलामेटरी गुण भी होते हैं। इसके इन्ही गुणों के आधार पर यह कहा जा सकता है कि विच हेजल का एक अच्छा उपाय है।

विच हेजल का इस तरह करें इस्तेमाल

  • इसके तेल को सबसे पहले रूई में लें और अपने फेस पर हल्के हल्के हाथों से लगाना शुरू करें।
  • इसके कुछ देर बाद हल्के गरम पानी से अपने चेहरे को धो ले।
  • इस उपाय को कुछ दिन अपनाने के बाद आपके चेहरे से पिंपल गायब होने शुरू हो जाएंगे।

टी ट्री आयल मुंहासे करे ठीक

टी ट्री के आयल का इस्तेमाल ना केवल घरेलु उपाय में शामिल है, बल्कि डॉक्टर भी पिंपल्स के लिए इसका इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। यही नहीं ऐसी बहुत सी क्रीम और जेल बाजार में मौजूद हैं, जो टी ट्री के आयल के जरिए तैयार किए गए हैं। यह सभी प्रोडक्ट एक्ने हटाने के काम में आते है। यही नही नामी वेबसाइट NCBI की साइट पर भी एक लेख प्रकाशित है जिसमें बताया गया है कि टी ट्री ऑयल पिंपल्स को खत्म करने में बेहद कारगर सिद्द होता है।

टी ट्री ऑयल का पिंपल हटाने के लिए इस्तेमाल

  • सबसे पहले थोड़ा एलोवेरा जेल लें और उसमें दो से तीन बूंद टी ट्री आयल मिला लें।
  • इसके बाद अपने फेस पर वहा वहा लगाए जहां आपको मुंहासे हो गए हैं।
  • अब कुछ देर इसे सूखने दे और सूखने के बाद पानी से धो ले।
  • आप इसका इस्तेमाल रोजाना दिन मे दो से तीन बार कर सकते हैं।

ग्रीन टी में है पिंपल हटाने के तत्व

अब तक आपके दिमाग में चल रहे सवाल कि पिंपल कैसे हटाएं का जवाब आपको कुछ हद तक मिल गया होगा। लेकिन अगर आप अभी भी संतुष्ट नहीं है तो आप ग्रीन टी का इस्तेमाल शुरू करें। ग्रीन टी के अंदर पॉलीफेनोल्स पाया जाता है जो मुंहासो से छुटकारा दिलाने में बेहद कारगर है। ग्रीन टी में पाया जाने वाला पॉलीफेनोल्स त्वचा में पैदा होने वाले तैलीय पदार्थ को कम करता है। इससे मुंहासे खत्म करने में मदद भी मिलती है।

ग्रीन टी का मुंहासों के लिए इस्तेमाल

  • आप ग्रीन टी का रोजाना सेवन कर सकते हैं।
  • अगर आप चाहें तो ग्रीन टी के बैग्स को उबालकर, ठंडा करने के बाद चेहरे पर भी लगा सकते हैं

एलोवेरा जेल फॉर पिंपल

एलोवेरा के फायदे बेहिसाब हैं। आज के समय में ना केवल लोग इसके जेल का इस्तेमाल करते है, बल्कि इसके जूस का सेवन भी बहुत आम सा हो गया है। एलोवेरा में एंटीबैक्टीरियल और एंटीइंफ्लामेट्री गुण होते हैं जो पिंपल के बैक्टीरिया को रोकने का काम करता है। इसके अलावा पिंपल में पैदा हुई सूजन और दर्द को भी यह पूरी समाप्त करने में कारगर बताया जाता है। एनसीबीआई की साइट पर भी एक लेख प्रकाशित किया गया है जिसमे बताया गया है कि एलोवेरा में एंटी एक्ने गुण होते हैं।

एलोवेरा के इस्तेमाल से हटाएं पिंपल

  • सबसे पहले आप एलोवेरा के एक पत्ते को लें। इसमे से सारा जेल निकाले और मुंहासों पर हल्के हल्के हाथ से लगाएं।
  • इसके 20 से 30 मिनट बाद जब भी यह सूख जाए तो आप अपने चेहरे को धो लें।

फिश ऑयल पिंपल मुक्त रखेगा स्किन

मछली के तेल में एंटी- इंफ्लामेटरी गु्ण होता है। यह गुण इंफ्लामेशन की वजन से होने वाले मुंहासों से राहत दिलाने का काम करता है। एनसीबीआई ने भी अपने एक शोध में यह बात बताई है कि मछली के तेल का अगर 12 सप्ताह तक सेवन किया जाए तो एक्ने ठीक हो जाते हैं

मुंहासों के लिए फिश ऑयल का इस्तेमाल

  • डॉक्टर भी पिंपल्स को दूर करने के लिए फिश ऑयल के कैप्सूल इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं।
  • आप फिश ऑयल के कैप्सूल या उससे बने प्रोडक्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

सेंधा नमक है पिंपल हटाने का उपाय

मुंहासों को हटाने के लिए यह एक बेहतरीन विकल्प है। इसके अंदर मैग्निशियम पाया जाता है जो हार्मोन्स को बैलेंस करने का काम करता है, इससे पिंपल से छुटकारा पाया जा सकता है। इसके अलावा स्किन में मौजूद डेड सेल्स को साफ करके त्वचा को स्वस्थ और मुलायम बनाने में मदद कर सकता है।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • सबसे पहले एक बाल्टी या टब में सेंधा नमक और डालें। इसके बाद जंहा भी मुंहासे हैं उस हिस्से को इसे पानी मे डाल कर भिगोएं।
  • एक रूई को सेंधा नमक के पानी में डूबोकर मुंहासों के ऊपर रख दें।
  • इसके आधे घंटे बाद अपने चहेर को तौलिए से पोछे और ऐसे ही छोड़ दें। इससे आपको मुंहासों से छुटाकार मिल जाएगा।

हल्दी में स्किन को मुंहासों से मुक्त करने की क्षमता

हल्दी का उपयोग शायद सबसे अधिक हमारे देश में ही किया जाता है। किसी तरह की चोट हो या अन्य कोई समस्या। हल्दी का इस्तेमाल उपचार के लिए किया जाता है। आपको बता दें कि हल्दी के अंदर एंटीसेप्टिक, एंटीबैक्टीरियल और हीलिंग गुण होते हैं। इसके अलावा इसमें एंटी- इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते है। यह सभी गुण एक्ने से छुटाकार दिलाने में भी कारगर होते हैं।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • सबसे पहले पानी और हल्दी का एक गाढ़ा पेस्ट तैयार करें।
  • अब इस पेस्ट को अपने पिंपल्स पर लगाएँ।
  • इसके कुझ देर बाद चेहरा धो ले। इससे आपको मुंहासों से बेहद रात मिलेगी।

जोजोबा ऑयल करता है पिंपल का सफाया

जोजोबा ऑयल का इस्तेमाल कई प्रोडक्ट को बनाने के लिए भी किया जाता है। इसके अंदर मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल जैसे गुण होते हैं। इनकी वजह से मुंहासे कम करने में मदद मिलती है। आपको बता दें कि जोजोबा ऑयल का इस्तेमाल सदियों से किया जा रहा है। एनसीबीआई ने भी अपनी एक रिसर्च रिपोर्ट में बताया है कि जोजोबा ऑयल फेशियल मास्क भी कील मुंहासों को दूर करने में कारगर हो सकता है। इस मास्क का उपयोग आप सप्ताह में दो या तीन बार कर सकते हैं।

ऐसे करें इस्तेमाल

  • सबसे पहले जोजोबा ऑयल की कुछ बूंदे रूई पर डाले और हल्के हाथों से अपने चेहरे पर लगाना शुरू कर दे।
  • लगाने के 20 से 30 मिनट बाद आप अपने चेहरे को गुनगुने पानी के साथ धो ले।
  • इसके अलावा आप जोजोबा ऑयल मास्क का भी इस्तेमाल कर सकते है।

शहद और दालचीनी

दालीचीनी पाउडर और शहद पिंपल्स को खत्म करने का एक सबसे बड़ा और असरदार तरीका है। आपको बता दें कि इन दोनो में ही एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो मुंहासों को खत्म करने के अलावा पनपने से भी रोकते हैं। एनसीबीआई के शोध में भी दोनो के बारे में बताया गया है कि इसके अंदर मौजूद ना केवल पिंपल्स को रोकने और खत्म करने का काम करते हैं, बल्कि चेहरे पर होने वाली रेडनेस को भी करने का काम करते हैं।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • सबसे पहले आप एक बड़ी चम्मच दालचीनी का पाउडर और शहद लेले। इन दोनो को मिलाकर एक पेस्ट तैयार करें।
  • अब रात में सोने से कुछ देर पहले इस पेस्ट को वंहा लगाए जंहा मुंहासे हैं।
  • इस पेस्ट को पूरी रात चेहरे पर इसी तरह लगा रहने दे और सुबह हल्के गरम पानी से अपने चेहरें को धो ले।
  • पिंपल अधिक होने पर आप इसे रोजाना सोने से पहले लगाएं। इसे कम से कम 14 दिन लगातार जरूर लगाएं.

नारियल तेल से हटाएं पिंपल

नारियल का तेल विटामिन ई का एक मुख्य श्रोत है, और विटामिन ई मुंहासों को खत्म करने में बेहद कारगर मानी जाती है। नारियल तेल ना केवल आपके चेहरे से मुंहासो को दूर रखने का काम करता है बल्कि यह आपकी स्किन को पूरी तरह मॉस्चराइज भी करता है।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • सबसे पहले नारियल तेल ले और इसमे कुछ शहद मिलाएं।
  • इसके बाद इसे अच्छे से मिलाकर अपने चेहरे पर लगा लें।
  • अब कुछ देर बाद आप इसे हल्के गुनगुने पानी से धो ले। इस तरह आपको पिपल्स से छुटकारा मिल जाएगा।

लहसुन

लहसुन हमारे घर में बड़ी आसानी से मिल जाता है। जिस तरह यह आपके खाने के स्वाद को बेहतर बनाए रखने का काम करता है, उसी तरह यह आपकी सुंदरता को भी बरकरार रखने में कारगर सिद्ध होता है। इसमें एलिसिन होता है जो एंटीबैक्टीरियल की तरह ही काम करता है। इसके अंदर एंटीमाइक्रोबियल, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी- इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं। इसके अंदर पाए जाने वाले यह सभी तत्वे एंटी एक्ने होते हैं और इसके जरिए एंटी एक्ने जेल भी तैयार किया जाता है।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • सबसे पहले कुछ लहसुन की पोथी ले और उसे छिलकर उसका पेस्ट तैयार करें।
  • इस पेस्ट में आप एक चम्मच शहद को भी मिलाएं।
  • इसके बाद अपने चेहरे पर लगाएं।
  • लगाने के कुछ समय बाद जब यह पूरी तरह सूख जाए तो इसे धो ले।

ऑर्गन ऑयल

इस ऑयल का इस्तेमला भी लंबे समय से मुंहासो को दूर करने के लिए किया जा रहा है। दशकों से ऑर्गन ऑयल को एंटी एक्ने के रूप में लोग इस्तेमला करते आ रहे हैं। यह ऑयल आपके चेहरे से तैलीय पदार्थो को कम करने का काम करता है, जिससे पिंपल होने की संभावना भी कम हो जाती है।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • सबसे पहले थोड़ी रूई लें। अब इस रूई में आर्गन ऑयल की कुछ बूंदे डालें।
  • अब अपने चेहरे पर हल्के हाथों से इसे लगना शुरू कर दें।
  • इसके कुछ देर बाद अपने चेहरे को धो ले।

कैस्टर ऑयल

कैस्टर ऑयल यानी आरंडी का तेल का उपयोग सदियों से त्वचा को कोमल बनाने और स्किन से संबंधित समस्या के उपचार हेतु किया जा रहा है। इसके अंदर भी एंटी- इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं। इसके इन्ही गुणों की वजह से यह पिंपल को भी खत्म करने के काम में लिया जाता है।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • सबसे पहले अपने कैस्टर ऑयल लें और इसमें एलोवेरा जेल अच्छे से मिला लें।
  • अब अपने चेहरे पर लगा लें।
  • इसके सूख जाने के बाद त्वचा को गुनगुने पानी से धो लें।

इसे भी देखें – फेस को पतला करने की एक्सरसाइज

मुंहासे और दाग का इलाज – Acne and pimple Treatments in Hindiमुंहासे और दाग का इलाज - Acne and pimple Treatments in hindi

यह सच है कि पिंपल या मुंहासो को ज्यादातर लोग किसी कॉस्मेटिक्स प्रोडक्ट के जरिए ही ठीक कर लेते हैं। जबकि कुछ लोग इसके लिए घरेलू उपाय के ऊपर ही विश्वास रखते हैं। लेकिन जब स्थिति खराब हो तो, पिंपल के इलाज के लिए डॉक्टर के पास जाना ही सबसे बेहतर विकल्प है। चलिए जानते हैं क्या है विकल्प

दवाओं से पिंपल हटाने के उपाय

जब कील मुंहासों की समस्या अधिक बढ़ जाती है तो डॉक्टर अक्सर इनसे निपटने के लिए अंग्रेजी दवाईयों का सहारा लेते हैं। जिसे टॉपिकल ट्रीटमेंट भी कहा जाता है।

लेजर ट्रीटमेंट से मुंहासे हटाने का तरीका

लेजर ट्रीटमेंट के लिए अक्सर डॉक्टर तभी सलाह देते हैं जब मुंहासों का इलाज किसी भी प्रकार ना हो पा रहा हो। इस उपचार के जरिए पिंपल्स के बैक्टीरिया को मारने का काम किया जाता है। इससे बैक्टीरिया तो खत्म होता ही है, साथ ही भविष्य में भी मुंहासे होने के चान्स कम हो जाते हैं।

होम्योपैथी से भी ठीक होते कील मुंहासे

होम्योपैथी का इलजा थोड़ा धीरे और बेहद किफायती होता है। इसमें डॉक्टर पीड़ित व्यक्ति को कुछ दवाईयां देते हैं, जिनके दो या तीन महीने का पूरा कोर्स करना होता है। कई बार यह दवाईयां किसी व्यक्ति को जल्दी भी असर दिखा देती है। लेकिन दवाईयों का पूरा कोर्स करना ही एक समझदारी भरा निर्णय होगा।

ब्लू या रैडलाइट के जरिए इलाज

पिंपल्स के लिए प्रोपेयोनिबैक्टीरियम एक्नेस के नाम के बैक्टीरिया को ही जिम्मेदार माना जाता है। यह बैक्टीरिया रैड लाइट और ब्लू लाइट में अपने आप नष्ट होने लगता है। इलाज के लिए जिस भी व्यक्ति को पिंपल्स की समस्या है इन लाइट के सामने रखा जाता है। इस ट्रीटमेंट के जरिए तेल ग्रंथियां सिकुड़ने लगती है और पिंपल्स खत्म हो जाते हैं।

गर्भावस्था में क्यों आते हैं मुंहासे

गर्भावस्ता के दौरान महिला के शरीर में मेटरन हार्मोन और सीबम का उत्पादन अधिक होने लगता है, जो मुंहासे होने के कारणों में से एक है। गर्भधारण करने से पहले अक्सर ट्राइमेस्टर में मुंहासे ठीक होने लगते हैं। लेकिन कई मामलों में यह भी देखा गया है जब तीसरे माह के बाद यह अधिक बढ़ने लगते हैं।

मुंहासों से बचाव के लिए क्या खाएं क्या नहीं – Diet For Pimple Free Skin in Hindi

दोस्तों मुंहासे होने की सबसे बड़ी वजह गलत खान पान भी है। इसलिए आप अगर कुछ ऐसा वैसा खाने का शौक रखते हैं तो आपको थोड़ा सा कंट्रोल करना भी सीखना होगा। अब हम नीचे बताते हैं कि पिंपल्स से बचने के लिए क्या खाएं और क्या नहीं।

मुंहासों से बचने के लिए खाएं

आप अगर चाहते हैं कि आपकी स्किन हमेशा खूबसूरत रहे तो आप इसके लिए नेचुरल चीजों को अपनी डाइट में अधिक शामिल करें। आप इससे बचाव के लिए फल, सब्जियां, और साबूत अनाज का सकते हैं। इस तरह की डाइट के बाद आपको मुंहासो की समस्या नहीं होगी।

यह बिलकुल ना खाएं

अगर आप चाहते हैं कि आपको मुंहासों की समस्या छू भी ना पाए तो आपको इसके लिए कोल्ड ड्रिक्स, चॉकलेट, दूध, रिफाइन्सड चीजें, और प्रोसेसड प्रोडक्ट का सेवन बिलकुल बंद कर दे।

पिंपल से बचाव के लिए सुझाव – Pimple Prevention Tips in Hindi

पिंपल को रोकने के लिए आपको क्या करना है औ क्या नहीं अब तक यह हम आपको अच्छी तर बता चुके हैं। अब बात करते हैं कुछ ऐसे सुझावो की ओर जो शायद आप नजरअंदाज करें लेकिन यह भी पिम्पल होने की वजह हो सकती है। चलिए जानते हैं कैसे करें पिम्पल से बचाव

तनाव

यह बात हमने आपको ऊपर भी बताई थी कि मुंहासे होने का एक मुख्य कारण तनाव भी है। इसलिए तनाव को छोड़े और खुश रहें, तभी आप इस समस्या से खुद को बचा पाएंगे।

चेहरे को छूने की आदत

हमारे साथ अक्सर ऐसा होता है कि हम बिना हाथ धोए अपने चेहरे को बार बार छूते रहते हैं। अगर आप भी इस गलती को करते हैं तो इसे पूरी तरह त्याग दें। अपने चेहरे को गंदे हाथो से ना छूएं।

मेकअप जरा ध्यान से

महिलाएं अक्सर कुछ पैसे बचाने के लिए सस्ते और घटिय कॉस्मेटिक प्रोडक्ट खरीद लेती हैं। जिसकी वजह से स्किन को बहुत कुछ झेलना पड़ता है। अगर आप भी यह गलती करते हैं तो इसे ना दौहराएं। मेकअप या कॉस्मेटिक के अन्य प्रोडक्ट को अच्छी तरह देख कर चुने।

पानी पीने की आदत डालें

आमतौर पर लोग पानी पीना ही भूल जाते हैं, जिसकी वजह से भी मुंहासे हो सकते हैं। इसलिए जितना हो सके उतना पानी पीएं। आप कम से कम 10 गिलास पानी रोजाना पीएं। अगर आप ऐसा करेंगे तो आपको मुंहासो की समस्या नहीं होगी।

खान पान को बदले

अपने खान पान में अच्छी चीजों को शामिल करें। अगर आप बहुत ज्यादा जंक फूड खाते हैं तो उसे खाना छोड़ दे। जंक फूड के कारण भी आपको मुंहासों की समस्या हो सकती है।

चेहरे को धोएं

यह तो हम सभी जानते हैं कि आज के वक्त में प्रदूषण कितना ज्यादा बढ़ गया है। प्रदूषण की वजह से अक्सर चेहरे पर गंदगी जम जाती है। इसलिए समय समय पर अपने चेहरे को जरूर धोए।

फेस क्लीन कराएं

पार्लर या सैलून जाकर समय समय पर अपने फेस को गहराई से क्लीन करवाएं। इसके लिए आप मसाज डीटैन या अन्य तरह की मसाजों का सहारा ले सकते हैं।

मुंहासों और दाग हटाने के लिए क्रीम – Best Pimples And Acne Cream in Hindi

अगर आप किसी तरह की क्रीम का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आप यह भी कर सकते हैं। अगर आप क्रीम लेने जाएं तो इस बात का ध्यान रखें की वह स्किन के तैलीय पदार्थ को हटाने में सक्षम हो। इसके अलावा अगर क्रीम इसके साथ साथ दाग भी हटा सकती है तो यह और भी बेहतर होगा।

निष्कर्ष – Conclusion


दोस्तो हमने अपने इस लेख में आपको पिंपल्स से जुड़ी तमाम जानकारियां देदी हैं। आशा करते हैं कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। अब आप अपने अनुसार दिए हुए उपाय और इलाज में से कुछ भी अपना सकते हैं।

अगर आपके कुछ सवाल हैं तो वो हमसे कमेंट के जरिए जरूर पूछें।

नोट- लेख में दी बताई गई बातें केवल जानकारी के लिए ही हैं।अगर आपको पिंपल्स की गंभीर समस्या है तो आपको उसके लिए डॉक्टर के पास ही जाना होगा। बिना किसी डॉक्टर की सलाह के किसी भी तरह का ट्रीटमेंट या क्रीम का इस्तेमाल ना करें।

पूछे जाने वाले सवाल

  1. पिंपल को रातो रात कैसे हटाएं?

    अगर आप भी मुंहासे रातों रात खत्म करना चहाते हैं तो भूल जाएं कि ऐसा कुछ होगा। इन्हे खत्म करने में समय लगता है।

  2. डॉक्टर के पास कब जाना सही होगा?

    अगर आप लंबे अरसे से इस समस्या को खत्म नहीं कर पाएं हैं तो आप तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।

  3. क्या मुंहासों को फोड़ना सही होगा?

    नहीं, अगर आप ऐसा करते हैं तो इससे आपके चेहरे पर दाग भी पड़ने लगेगें।

  4. क्या किसी तरह की दवाई या क्रीम डॉक्टर की सलाह के बिना ली जा सकती है?

    नहीं, दवाई या कोई भी ऐसा प्रोडक्ट जो किसी उपचार के लिए है, उसे डॉ्कर की सलाह के बिना नहीं लेना चाहिए।

You may also like

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *