kaju khane ke fayde
NUTRITION GUIDE

काजू खाने के 16 फायदे। नुकसान, खूबियां, इस्तेमाल और कैसे खाएं Cashew

MAIN POINTS OF ARTICLE

हम सभी के घर में ड्राइ फ्रूट्स अक्सर इस्तेमाल होते हैं, कभी किसी पकवान में, तो कभी यूं ही स्नैक्स के तौर पर खाने के लिए। इन ड्राइ फ्रूट में सबसे ज्यादा लोगों को काजू पसंद होते हैं। Cashew (Kaju) Khane Ke Fayde कितने हैं, क्या ये बात आप जानते हैं। मुमकिन है की आपने काजू खाने के फायदे बारे में सिर्फ सुना होगा लेकिन इसके असल फायदे क्या है, यह नहीं जानते होंगे। आज हम आपको काजू से जुड़े फायदे नुकसान इस्तेमाल इसके दाम और काजू के प्रकार यह तमाम बाते बताएंगे। हम आपको यह भी बताएंगे कि आप किस मात्रा में और किस समय काजू खाने का अधिक लाभ होगा। तो चलिए जानते हैं काजू से जुड़े फायदे नुकसान के बारे में।

आज के समय में भी काजू खाना लोग अधिक पसंद करते हैं, क्योंकि काजू बाकि ड्राइ फ्रूट्स से स्वादिष्ट है। इसका स्वाद हल्का कुरकुरा और हल्का मीठा होता है। आम तौर पर घर में अलग अलग पकवानों को बनाने में भी काजू का इस्तेमाल किया जाता है। इससे बनने वाली मिठाई जिसे लोग काजू कतली के नाम से जानते हैं, सबसे ज्यादा प्रसिद्द है। आम मिठाई की दुकानों से लेकर बड़ी दुकानों तक काजू कतली 600 रूपए किलों से शुरू हो कर 2000 रूपए किलों तक भी बेची जाती है। इसका इस्तेमाल चावल बनाने और अन्य मिठाई बनाने में भी किया जाता है। काजू खाने में जितने स्वादिष्ट हैं उतने ही इसके फायदे भी हैं। 

काजू खाने के फायदे- Benefits of Cashew in Hindi

काजू खाने के फायदे- Benefits of Cashew in Hindi

हमारे देश में पहली बार काजू 16 वी सदी में ब्राजील और पुर्तगाल से लाए गए थे। काजू के अंदर प्रचूर मात्रा में विटामिन ई पाया जाात है। साथ ही इसमें मौजूद पोषक तत्व कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से बचने के काम में लिए जाते हैं। तो चलिए जानते हैं Kaju Khane Ke Fayde Aur Nuksan, इस्तेमाल।

मसूड़ो और दातों के लिए काजू है फायदेमंद

दांत हमारे जीवन के लिए बेहद जरूरी हैं। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि यह पूरी तरह मजबूत बने रहें। काजू आपके दांतो और मसूड़ो दोनों को ही स्वस्थ्य रखने का काम करता है। इसमें मौजूद कैल्शियम दांतों के लिए बेहद जरूरी माना जाता है। अगर आप दांत और मसूड़ों से जुड़ी किसी तरह की समस्या से परेशान हैं तो काजू का सेवन जरूर करें। यही नहीं आप ऐसी अन्य चीजों को सेवन कर सकते हैं जिनमें कैल्शियम की मात्रा अधिक हो।

गर्भावस्था में क्यों खाने चाहिए काजू

काजू में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं जो गर्भआवस्था में मिहलाओं के लिए बेहद जरूरी होते हैं। इससे ना केवल शिशु सेहतमंद रहता है बल्कि शिशु की हड्डियां के विकास में भी एक अहम रोल निभाता है। इसमें मौजूद कैल्शिय और मैग्नीशियम हड्डियों के विकास में तो काम आता ही है, साथ ही शिशु के जन्म के समय वजन को भी कम नहीं होने देता। इसके अलावा गर्भवती के रक्तचाप को रोकने का काम भी करता है।

दिल को स्वस्थ्य रखता है काजू

आज के समय में दिल को स्वस्थ्य रखने के लिए लोग ना जाने कितनी ही दवाईया खातें हैं, कितनी ही डाइटिंग करते हैं। लेकिन वह एक काम नहीं करते और वह है ड्राइ फ्रूट का सेवन करना। काजू को नट्स की श्रेणी में रखा जाता है और यह नट्स दिल को स्वस्थ्य रखने के लिए बेहद लाभकारी माने जाते हैं। इसमें मौजूद बायोएक्टिव और मैक्रोन्यूट्रिएंट्स दिल को स्वस्थ्य रखने का काम करते हैं।

पाचन तंत्र का काजू रखता है ख्याल

काजू खाने के फायदे पाचन तंत्र को भी होते हैं। इसे एक हाई फाइबर डाइट की श्रेणी में रखा जाता है। यह डाइट आपकी पाचन क्रिया को मजबूत करने का काम करती है। इसके अलावा यह आपको कब्ज, पेट के कैंसर और अल्सर जैसी गंभीर बीमारियों से भी बचाने का काम करती है।

हड्डियों को मजबूत रखता है काजू

काजू के अंदर कैल्शियिम और मैग्नीशियम पाया जाता है  जो हड्डियों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। बढ़ती उम्र के साथ काजू का रोजाना सेवन आपकी हड्डियों को स्वस्थ्य बनाए रखता है। इसके रोजाना सेवन से Osteoporosis जैसी गंभीर बीमारियां भी आपके नजदीक नहीं आती। आपको बता दें कि यह बीमारी बेहद खतरनाक होती है। जिस भी व्यक्ति को यह बीमारी लग जाती है उसकी हड्डियां बेहद कमजोर हो जाती हैं।

दिमाग के लिए Kaju Khane Ke Fayde

डिप्रेशन या स्ट्रेस या दिमागी कोई बीमारी, इन सभी समस्याओं से अकेला निपटने में सक्षम होता है काजू। आज के समय में स्ट्रैस होना बेहद आम है लेकिन इससे तभी बाहर आया जा सकता है, जब एक बेहतर डाइट ली जाए। काजू में मौजूद मैग्नीशियम दिमाग के रक्त प्रवाह का ख्याल रखता है। वहीं इसमें एंटीडिप्रेसेंट गुण होते हैं। तो दोस्तो अपने दिमाग के लिए ही सही लेकिन काजू का सेवन करना शुरू करें।

काजू देता है स्किन को लाभ

काजू के अंदर प्रोटीन और विटामिन ई प्रचूर मात्रा में पाया जाता है। यह दोनो ही तत्व स्किन के लिए बेहद फायदेमंद माने जाते हैं। इसके रोजाना सेवन से स्किन साफ होती है। इसके अलावा बढ़ती उम्र का असर अक्सर चेहरे पर दिखने लगता है, लेकिन काजू के सेवन से यह समस्या भी खत्म हो जाती है। अगर आप रोजाना धूप में आते जाते हैं, तो यह आपके लिए भी फायदेमंद रहेगें, इसमें  मौजूद तत्व आपके चेहरे को झुरर्रियों से भी बचा कर रखते हैं।

बालों के लिए काजू के फायदे

बालों के झड़ने की समस्या आज कल बहुत आम हो गई है, लोग महंगे प्रोडक्ट अपने बालों पर लगाते हैं लेकिन इसका कोई फायदा नहीं होता। जबकि जो लोग काजू खाते हैं उनके बाल हमेशा काले घने और मजबूत रहते हैं। काजू के अंदर मैग्नीशियम, जिंक, आयरन और फॉस्फोरस जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। यह सभी तत्व बालों के लिए बेहद फायदेमंदर होते हैं। 

काजू में होते हैं एंटीऑक्सीडेंट 

काजू में पाए जाने वाले तत्वों में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। जो हम सभी के शरीरों के लिए बेहद जरूरी होते हैं। यह गुण ही हैं जो हमें कैंसर और दिल की बीमारियों से बचाने का काम करते हैं। 

गॉल ब्लैडर की पथरी में Kaju Khane Ke Fayde

काजू में फाइबर की मात्रा काफी अधिक होती है जो गॉल ब्लैडर में पथरी की समस्या से छुटकारा दिलाने का काम करता है। आपको बता दें कि गॉल ब्लैडर की पथरी में वजन तेजी से घटता है, जो बेहद जोखिम भरा हो सकता है। जबकि रोजाना काजू के सेवन से पथरी की समस्या खत्म होने लगती है। वही जो लोग इसका सेवन नियमित रूप से करते हैं। उन्हे पथरी की समस्या होती ही नहीं है।

खून को साफ करने में Cashew Benefits

काजू के अंदर उचित मात्रा में आयरन पाया जाता है जो  खून को साफ करने का काम करात है। जिसके कारण शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह बना रहता है। इसके अलावा इसके सेवन से रेड बल्ड सेल्स  के उत्पादन में भी बढ़ोतरी होती है, जिससे एनिमिया का खतरा कम हो जाता है। 

डायबिटीज से बचाने में सहायक है काजू

आज देशभर में लाखों करोड़ों मरीज डायबिटीज जैसी बीमारी से ग्रसित हैं। इस बीमारी के शरीर में पैदा होते ही अन्य ढेंरों बीमारियां पैदा होनी शुरू हो जाती हैं। लेकिन काजू में ऐसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो खून में ग्लूकोज को नियंत्रित रखते हैं। काजू की इस खासियत की वजह से ही यह आपको डायबिटीज से भी बचा कर रखता है।

वजन नियंत्रित रखने में काजू के फायदे

उम्र और बेकार जीवन शैली के चलते वजन का बढ़ना बहुत ही आम हो जाता है। वजन बढ़ने के चलते ही शरीर में कई तरह की बीमारियां उत्पन्न होने लगती हैं। लेकिन काजू के रोजाना सेवन से वजन संतुलित रहता है। इसे हाई फाइबर डाइट की श्रेणी में रखा जाता है, इसके सेवन के बाद अनियमित रूप से भूख कम लगने लगती है और आप बेवजह की चीजे खाने से बचने लगते हैं। काजू की इन्ही खूबियों की बदौलत यह वजन को नियंत्रित रख पाता है। 

Cashew Can Cure Cancer

काजू के अर्क में एनाकार्डिक एसिड मौजूद होता है, यह एसिड शरीर के भीतर कैंसर के वायरस को फैलने से रोकता है। तो दोस्तो अगर आप इस बीमारी से बच कर रहना चाहते हैं तो आप रोजाना काजू का सेवन जरूर करें।  

ऊर्जा बनाए रखने के लिए काजू के फायदे

अगर आप दिन भर की मेहंनत या काम करने के बाद थकावट महसूस करते हैं तो आप काजू का सेवन कर सकते हैं। इससे यह आपको ऊर्जा प्रदान करेगा और आप पूरे समय जोश से भरे रहेंगे।

लो बल्ड प्रेशर में काजू होता है फायदेमंद

अगर आपका बल्ड प्रेशर अक्सर बहुत लो रहता है और आप दवाईयां खाना पसंद नहीं करते तो आपके लिए काजू एक सही विकल्प है। काजू के अंदर मौजूद तत्व आपकी लो बल्ड प्रेशर की समस्या को खत्म कर देते हैं। 

Buy Best Cahsew (काजू)>> Click Here

काजू की खूबियां

काजू खाने के फायदे- Benefits of Cashew in HindiKaju Khane Ke fayde तो आप जान गए। चलिए अब जानते हैं काजू (Cashew) की खूबियां, अब हम आपको यह बताएंगे कि इसकी ऐसी कौन सी खूबियां हैं जो आपको स्वस्थ्य रखेंगे।

कोलेस्ट्रॉल

दिल के लिए कोल्सट्रॉल कितनी खतरनाक होता है, यह बात तो शायद हम सभी जानते हैं। कोलेस्ट्रॉल एक मोमी यौगिक है जो खून के अंदर जमना शुरू हो जाता है। जब भी शरीर में कोल्सटॉल बढ़ता है तो शरीर में पट्टिका बन जाती है। इसके कारण दिल तक खून पंहुचने में बाधा उत्पन्न होती है। वही काजू के अंदर किसी तरह का कोलेस्ट्रॉल नहीं होता। इसलिए बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए डाक्टर ड्राइ फ्रूट्स या काजू खाने की सलाह देते हैं।

एंटीऑक्सीडेंट गुण

काजू के अंदर पाए जाने वाले पोषक तत्वो में एंटीऑक्सीडेंट गुण अधिक होते हैं। एंटीऑक्सीडेंट यौगिक जो कोशिका में ऑक्सीडेटिव क्षति का मुकाबला करते हैं। एंटिऑक्सीडेंट सेल के माध्यम से स्वीप करते है, इसके अलावा यह मुक्त कणों को बेअसर करते हैं जो सेलुलर क्षति का कारण बन सकते हैं। एंटीऑक्सीडेंट के लिए विटामिन ई और के दोनो बेहद जरूरी है और यह दोनो ही विटामिन काजू के अंदर मौजूद होते हैं। 

गुड फैट

वसा या फैट हर तरह का फैट आपके लिए खराब नहीं होता, बल्कि कुछ आपके लिए बेहद जरूरी है। काजू के अंदर भी एक ऐसा ही वसा पाया जाता है जो आपके  दिल के रोगों से दूर रखने का काम करता है। इसमें मोनोअनसैचुरेटेड वसा पाया जाता है जो बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है।

प्रोटीन

काजू के अंदर पाए जाने वाले पोषक तत्व  उसे एक भारी क्रीम का आदर्श विकल्प बनाती है। सभी नट्स की तरह काजू प्रोटीन का एक उत्कृष्ट स्रोत प्रदान करते हैं। प्रोटीन उन तीन माइक्रोन्यूट्रिएंट्स में से एक है जिसका उपयोग आपका शरीर ऊर्जा बनाने के लिए करता है और यह  विशेष रूप से मांस पेशियों के ऊतकों के पुनर्निमाण और विभिन्न सेलुलर यौगिकों को बनाने के लिए महत्वपूर्ण है। इसके अलावा प्रोटीन खाने से आप भोजन के बीच भूखे रहने से बच जाते हैं। जिससे आप स्वस्थ भोजन की योजना बना सकते हैं।

जिंक

तांबे के अलावा काजू में ही जिंक की मात्रा सबसे अधिक पाई जाती है। अगर आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में जिंक ना मिले तो इसका सीधा असर आपकी रोगप्रतिरोधक क्षमता पर पड़ना शुरू हो जाता है। इससे आप अधिक बीमार होने लगते हैं। एक काजू की गिरी में एक औंस सेवरात 1.6 मिलीग्राम जस्ता होता है, जो आपके सेहतमंद रखने के लिए बेहद जरूरी है।

काजू का इस्तेमाल ऐसे करें

  • अगर आप काजू का सेवन करना चाहते हैं तो आप काजू को रोजाना खा सकते हैं। आप इसे सीधा खा सकते हैं, या फिर आप काजू कतली का भी सेवन कर सकते हैं।
  • आप चाहें तो काजू और बादाम को अच्छी तरह भून कर खा सकते हैं। इसे आप पहले भून कर रख लें इसके बाद जब भी इसका सेवन करना हो उसमें थोड़ा नमक मिला लें और फिर स्नैक्स की तरह खाएं।
  • काजू का इस्तेमाल आप खीर या हल्वे में टॉपिंग के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपको काजू खाने के फायदे भी मिलेंगे और पकवान दिखने में भी बेहतर लगेंगे।
  • काजू का इस्तेमाल आप अन्य पकवान बनान में, जैसे पुलाओं बनाने में, शाही पनीर बनाने में या अन्य किसी तरह की फूड आइटम बनाने में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 

काजू कितना खाएं

अगर आप काजू का सेवन नियमित रूप से करते हैं तो इसके फायदे आपको जरूर होंगे। लेकिन इसमें आपको यह खास तौर से ध्यान रखना होगा कि आप इसका सेवन उचित मात्रा में ही करें। आप रोजाना 5-6 काजू खा सकते हैं यह आपको कोई नुकसान नहीं पंहुचाएंगे।

यह लोग ना खाएं काजू

 कुछ लोगों को काजू के सेवन से एलर्जी भी हो सकती है, जब आप इसका सेवन करें तो इस बात का ध्यान रखें कि आपको किसी तरह का साइड इफेक्ट ना हो। 

काजू खाने से उन लोगों को भी परहेज रखना चाहिए जिन्हे अक्सर दस्त की समस्या हो जाती है। काजू के अंदर भारी मात्रा में हाई फाइबर मौजूद होता है जो आपके पेट को साफ रखने का काम भी करता है। इसलिए अगर आप दस्त जैसी बीमारी से ग्रसित हैं तो यह आप पर उल्टा असर ही दिखाएगा।

काजू खाने के नुकसान

काजू खाने के नुकसानहमने बचपन से लेकर आज तक यह बात तो सुनी ही है कि किसी भी चीज अधिक मात्रा आपको नुकसान ही पंहुचाएगी। ऐसा ही काजू के साथ भी हैं, यूं तो काजू खाने के फायदे हैं लेकिन इसकी अधिक मात्रा में सेवन करने से कुछ दुष्परिणाम भी झेलने पड़ते हैं।

  • काजू के अंदर सोडियम की मात्रा बहुत अधिक पाई जाती है, जिसकी वजह से हृदय संबंधित समस्या पैदा हो सकती है। इसके अलावा काजू के अधिक सेवन से रक्तचाप, स्ट्रोक की बीमारियां भी हो सकती हैं। साथ ही यह आपकी किडनी पर भी असर डालता है।
  • काजू के अंदर पर्याप्त मात्रा में कैलरीज भी मौजूद होती हैं। ऐसे में अगर आप इसका सेवन जरूरत से ज्यादा करते हैं, तो इससे आपका वजन भी बढ़ सकता है।
  • काजू कें अंदर फाइबर पाया जाता है जो सेहतमंद रहने में आपकी मदद करता है। लेकिन इसके अधिक सेवन से पेट में सूजन और गैस की समस्या भी हो सकती है। लिहाजा इसका उचित मात्रा में ही सेवन करें।
  • काजू पोटैशियम से समृद्ध होता है। इसके अधिक सेवन से हमारे शरीर में पोटेशियम की मात्रा अधिक हो जाती है, इससे आपका दिल धड़कना बंद हो सकता है। इसके अलावा कमजोरी आना और किडनी खराब होने जैसी स्थिति भी उत्पन्न हो सकती है।

काजू के फायदे और नुकसान>>> निष्कर्ष

आशा करते हैं हमारे इस लेख के माध्यम से आप यह तो समझ गए होंगे कि काजू खाने के फायदे क्या हैं और आखिर किस तरह आप काजू का सेवन कर सकते हैं। हमारे इस लेख में आपने यह भी देखा होगा कि हमने आपको काजू किस मात्रा में खाना है यह भी बताया है। इसके अलावा काजू की खूबियां भी आप समझ ही गए होंगे।

अब आप हमें नीचे कमेंट करके बताएं कि क्या आप काजू खाना शुरू करेंगे और आपको इसका टेस्ट कैसा लगता है। 

इसे भी देखें>> गुड़ से ठीक होंगी आंखे और घटेगा वजन, जानिए कैसे

संबंधित प्रशनोत्तर

काजू को अंग्रेजी भाषा में किस नाम से पुकारा जाता है?

अंग्रेजी भाषा में काजू को Cashew कहा जाता है।

पहली बार काजू भारत में कब लाए गए थे?

हमारे देश में काजू पहली बार 16 वी सदी में ब्राजील और पुर्तगाल से लाए गए थे।

क्या काजू के नुकसान भी होते हैं?

हां काजू खाने के नुकसान भी बहुत अधिक होते हैं। लेकिन इसका नुकसान तभी होता है, जब आप काजू का अधिक मात्रा में सेवन कर देते हैं।

काजू से बनी सबसे प्रसिद्ध मिठाई कौन सी है?

काजू से बनी सबसे प्रसिद्ध मिठाई काजू कतली है। इसका सेवन देशभरर में सबसे अधिक किया जाता है।

यह भी पढ़ें>>> अखरोट खाने के फायदे और नुकसान

You may also like

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *